Bhagat Singh Quotes in Hindi | भगत सिंह के प्रेरक विचार

 



Quotes - 1 : बुराई इसलिए नहीं बढती की बुरे लोग बढ़ गए है बल्कि बुराई इसलिए बढती है क्योंकि बुराई सहन करने वाले लोग बढ़ गये है।

Quotes - 2 : यदि बहरों को सुनना है तो आवाज़ को बहुत जोरदार होना होगा। जब हमने बम गिराया तो हमारा ध्येय किसी को मारना नहीं था। हमने अंग्रेजी हुकूमत पर बम गिराया था, अंग्रेजों को भारत छोड़ना चाहिए और उसे आज़ाद करना चाहिए।

Quotes - 3 : कवि, एक पागल प्रेमी और देशभक्त एक ही चीज से बने है क्योंकि लोग अक्सर देशभक्तों को पागल कहते है।

Quotes - 4 : मेरे सीने में जो जख्म है वो सब फूलो के गुच्छे है हमें तो पागल ही रहने दो हम पागल ही अच्छे है।

Quotes - 5 : मेरी कलम मेरी भावनावो से इस कदर रूबरू है कि मैं जब भी इश्क लिखना चाहूं तो हमेशा इन्कलाब लिखा जाता है।

Quotes - 6 : किसी कोक्रांतिशब्द की व्याख्या शाब्दिक अर्थ में नहीं करनी चाहिए। जो लोग इस शब्द का उपयोग या दुरूपयोग करते हैं उनके फायदे के हिसाब से इसे अलग अलग अर्थ और अभिप्राय दिए जाते है।

Quotes - 7 : जो भी ब्यक्ति विकास के लिए खड़ा होगा उसे हर एक रुढ़िवादी चीज को चुनौती देनी होगी तथा उसमे अविश्वास करना होगा।

Quotes - 8 : आम तौर पर लोग चीजें जैसी हैं उसके आदि हो जाते हैं और बदलाव के विचार से ही कांपने लगते हैं। हमें इसी निष्क्रियता की भावना को क्रांतिकारी भावना से बदलने की ज़रुरत है।

Quotes - 9 : मैं इस बात पर जोर देता हूँ कि मैं महत्त्वाकांक्षा, आशा और जीवन के प्रति आकर्षण से भरा हुआ हूँ, पर मैं ज़रुरत पड़ने पर ये सब त्याग सकता हूँ, और वही सच्चा बलिदान है।

Quotes - 10 : अहिंसा को आत्म-बल के सिद्धांत का समर्थन प्राप्त है जिसमे अंतत: प्रतिद्वंदी पर जीत की आशा में कष्ट सहा जाता है, लेकिन तब क्या हो जब ये प्रयास अपना लक्ष्य प्राप्त करने में असफल हो जाएं? तभी हमें आत्म -बल को शारीरिक बल से जोड़ने की ज़रुरत पड़ती है ताकि हम अत्याचारी और क्रूर दुश्मन के रहमोकरम पर ना निर्भर करें।

Quotes - 11 : क्रांति मानव जाती का एक अपरिहार्य अधिकार है, स्वतंत्रता सभी का एक कभी ख़त्म होने वाला जन्म-सिद्ध अधिकार है। श्रम समाज का वास्तविक निर्वाहक है।

Quotes - 12 : अपने किसी शाब्दिक अर्थ में क्रांति शब्द की विवेचना नही करनी चाहिये। विभिन्न अर्थ और महत्व में इस शब्द को जिम्मेदार ठहराया जाता है। यह लोगो के उपर निर्भर करता है कि कौन इसका उपयोग करता है और कौन दुरप्रयोग।

Quotes - 13 : हर कीमत पर शक्ति का प्रयोग करना काल्पनिक है और नए आंदोलन जो देश में आरम्भ हुए है जिसकी चेतावनी हम दे चुके है जिसके आदर्श गुरु गोविन्द सिंह , शिवाजी कमाल पाशा , राजा खान , वाशिंगटन , गैरीबाल्डी , लाफयेट और लेनिन है

Quotes - 14 : कोई व्यक्ति तब ही कुछ करता हैं जब वह अपने कार्य के परिणाम को लेकर आश्वस्त होता हैं जैसे हम असेम्बली में बम फेकने पर थे।


Brief Biography | संक्षिप्त जीवनी
Name
Bhagat Singh
Date of Birth
27 September 1907
Birth Place
Banga in Lyallpur District, British India (Now Pakistan)
Died
23 March 1931 (Aged 23)
Died Place
Lahore, Punjab, British India (Now Pakistan)
Movement
Indian Independence Movement
Nationality
Indian
Major Works
Bhagat Singh is best remembered for his role in the assassination of John Saunders, a British police officer. His original plan was to kill James A. Scott, the British officer who had ordered a lathi charge on Lala Lajpat Rai and his fellow protesters during a peaceful protest. When Rai died a few days later, Singh decided to avenge his death by killing the British officer.


No comments:
Write comments